loader

Breaking News


Home > Gujarat > कांग्रेस ने गुजरात के 44 MLAs को बेंगलुरु भेजा, अब तक 7 ने पार्टी छोड़ी


Foto

कांग्रेस ने गुजरात के 44 MLAs को बेंगलुरु भेजा, अब तक 7 ने पार्टी छोड़ी

Aug. 2, 2017, 6:40 p.m.
      Whatsapp  

अहमदाबाद. गुजरात में टूट से बचने के लिए कांग्रेस ने शुक्रवार रात अपने 44 विधायकों को बेंगलुरु भेज दिया। इससे पहले भी 1995 में केशूभाई पटेल सरकार के दौरान शंकर सिंह वाघेला अपने समर्थक 27 विधायकों को खजुराहो ले गए थे। कांग्रेस ने बीजेपी पर 5 से 10 करोड़ रुपए देकर विधायकों की खरीद-फरोख्त करने का आरोप लगाया है। पार्टी शनिवार को इसकी शिकायत इलेक्शन कमीशन से कर सकती है। इससे पहले, कांग्रेस विधायकों के पार्टी छोड़ने का सिलसिला शुक्रवार को दूसरे दिन भी जारी रहा। छना भाई चौधरी (वासंदा-नवसारी), मान सिंह चौहाण (बालासिनोर-महिसागर) और राम सिंह परमार (ठासरा-खेडा) ने विधायक पद से इस्तीफा दे दिया। इसी के साथ वाघेला समेत कांग्रेस छोड़ने वाले विधायकों की संख्या 7 हो गई है। अहमद पटेल की जीत में रोड़ा बन सकती है ये स्थिति... - विधानसभा स्पीकर रमनलाल वोरा ने शुक्रवार को कहा कि उन्हें कांग्रेस के कुल 6 विधायकों के इस्तीफे मिले हैं। गुजरात कांग्रेस जनरल सेक्रेटरी निशीत व्यास ने कहा,


"दल बदलने को लेकर हमारे विधायकों को धमकियां दी जा रही थीं, इसलिए हमने उनकी सेफ्टी के लिए 44 विधायकों को बेंगलुरू भेज दिया।" इन विधायकों को बेंगलुरू के बाहरी इलाके में एक रिसॉर्ट में ठहराया गया है। उधर, सीएम विजय रूपाणी ने कांग्रेस का दावा खारिज करते हुए कहा कि ये कांग्रेस की इंटरनल प्रॉब्लम है। - बहरहाल, कांग्रेस विधायकों के पार्टी छोड़ने का सिलसिला यहीं थमता नजर नहीं आ रहा। सौराष्ट्र के जामनगर ग्रामीण से विधायक राघवजी पटेल ने कहा है कि वह जब चाहें कांग्रेस छोड़ सकते हैं। अन्य विधायक भी इसी राह जा सकते हैं। ये स्थिति राज्यसभा के लिए कांग्रेस कैंडिडेट अहमद पटेल की जीत में रोड़ा बन सकती है। - बता दें कि गुरुवार को कांग्रेस के 3 विधायकों बलवंत सिंह राजपूत, डॉ. तेजश्री पटेल और पीआई पटेल ने इस्तीफा देकर बीजेपी ज्वाइन कर लिया था। शंकर सिंह वाघेला पहले ही इस्तीफा दे चुके हैं। अहमद पटेल को चाहिए 46 विधायकों का सपोर्ट


- राज्य में कांग्रेस विधायकों की बगावत के बाद अब पार्टी के राज्यसभा कैंडिडेट अहमद पटेल की राह मुश्किल हो सकती है। पटेल को जीत के लिए 46 विधायकों का सपोर्ट चाहिए। असेंबली में कांग्रेस के 54 विधायक थे। इनमें से वाघेला समेत 7 विधायकों ने इस्तीफा दे दिया है। इस तरह अब उसके पास 47 विधायक बचे हैं। अंदरूनी कलह के चलते राष्ट्रपति चुनाव में पार्टी के 11 विधायक क्रॉस वोटिंग कर चुके हैं। बता दें कि पटेल कांग्रेस प्रेसिडेंट सोनिया गांधी के पॉलिटिकल एडवाइजर हैं। तीन राज्यसभा सीटों के लिए लड़ाई - गुजरात से राज्यसभा के लिए 3 सीटें हैं। 8 अगस्त को चुनाव होना है। बीजेपी ने तीनों सीटों पर अपने कैंडिडेट उतारे हैं। बीजेपी से अमित शाह, स्मृति ईरानी और बलवंत सिंह राजपूत ने शुक्रवार को नॉमिनेशन दाखिल कर दिए। राजपूत गुरुवार को ही कांग्रेस से इस्तीफा देकर बीजेपी में शामिल हुए थे। कांग्रेस की ओर से अहमद पटेल मैदान में हैं। कांग्रेस का बीजेपी पर खरीद-फरोख्त का आरोप - कांग्रेस ने बीजेपी पर धनबल से विधायकों को खरीदने का आरोप लगाया है। कहा


- विधायकों को 5 से 10 करोड़ रुपए दिए जा रहे हैं। बीजेपी के सदस्यों ने कांग्रेस पर गुजरात को बदनाम करने का आरोप लगाते हुए शुक्रवार को राज्यसभा में हंगामा किया, इसके चलते सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी गई। जवाब में कांग्रेस के बीके हरिप्रसाद ने कहा कि कांग्रेस के विधायकों को तोड़ने में प्रधानमंत्री और पीएमओ सीधे तौर पर शामिल है। तीन कांग्रेसी विधायकों का दावा, हमसे भी किया गया कॉन्टैक्ट - राज्य में मची इस उथल-पुथल के डैमेज कंट्रोल के लिए रणदीप सुरजेवाला शुक्रवार को अहमदाबाद पहुंचे। उन्होंने बीजेपी पर विधायकों की खरीद-फरोख्त का आरोप लगाया। पार्टी ने आरोप के समर्थन में तीन विधायकों पूना गावित (व्यारा), मंगल गावित (डांग) और किशोर पटेल (धरमपुर) को मीडिया से रूबरू करवाया। इन विधायकों ने दावा किया कि उनसे भी कॉन्टैक्ट किया गया, लेकिन वह कांग्रेस पार्टी के साथ हैं।


- पूनाभाई गावित ने दावा किया कि एनके अमीन नाम के एक अधिकारी हैं। उन्हें इस अधिकारी ने जीप में बुलाया और कहा कि आइए आपकी शाह से बात करवाऊं। टिकट भी मिलेगा। कुछ और MLAs छोड़ सकते हैं कांग्रेस का साथ - सूत्रों के मुताबिक, 21 जुलाई को कांग्रेस छोड़ने वाले शंकर सिंह वाघेला के कुछ और सपोर्टर विधायक राज्यसभा चुनाव से पहले पार्टी छोड़ सकते हैं। इनमें वाघेला के बेटे महेंद्र सिंह के अलावा राघवजी पटेल के नाम अहम हैं। - एक बीजेपी नेता ने कहा कि राष्ट्रपति चुनाव में क्रॉस वोटिंग का मतलब है कि कांग्रेस अपने 11 विधायकों को खो चुकी है। क्या है असेंबली का गणित? - गुजरात असेंबली में कुल 182 सीटें हैं। कांग्रेस के 7 विधायकों ने इस्तीफा दे दिया। अब असेंबली में 175 MLA बचे हैं। - यहां बीजेपी के 121, कांग्रेस के 47 (वाघेला समेत 7 के पार्टी छोड़ने के बाद), एनसीपी के 2 और जेडीयू का एक विधायक है। - दूसरी ओर, अगर कांग्रेस के विधायकों ने फिर क्रॉस वोटिंग की तो पटेल के लिए 46 वोट तक पहुंचना मुश्किल होगा। एनसीपी के 2 MLA वाघेला के सपोर्ट में जाते दिख रहे हैं।